रेड जॉन में बाहर निकलने पर पापंदी लगाई गई है जाने कुछ महत्त्वपूर्ण बाते जिसका आपको पालन करना पड़ सकता है 17 मई तक लोगो को बाहर नहीं निकलने नहीं दिया , केवल सरकारी कर्मचारियों को ही जो एसेंशियल सर्विसेज में आते है उन्हे ही बाहर निकलने दिया जाएगा ।

कोरोना वायरस एक महामारी है जिसका इतनी जल्दी समाप्त होना न मुमकिन है। मुंबई जैसा एक महाशहर जिसकी आबादी 18.41 मिलियन के लगभग तो वहा इस वायरस का बढ़ना निश्चित ही है। अभी तक मुंबई में 14,541 कोरोना से पीड़ित है जबकि 583 लोगो की मृत्यु हो चुकी है। (श्रोत: विकिपीडिया).

मुंबई सरकार का मानना है कि अगर ऐसा ही हालात रहे तो हमे लॉकडाउन को आगे भी कायम रखना होगा। केंद्रीय सरकार ने सभी राज्यों के जिलों को जोन्स में बांटा दिया है। मुंबई को 212 जोन्स में बांटा गया है। जिनमे 14 जोन्स रेड जोन्स में स्थान प्राप्त किया है

  • मुंबई
  • पुणे
  • ठाणे
  • नासिक
  • पालघर
  • नागपुर

यह कुछ नाम है जिनपर सबसे ज्यादा कोरोना से जुझ रहे लोग सबसे ज्यादा है । तो यह निश्चित ही है की कोरोना से मुंबई बाहर निकलने में असक्षम है। मुंबई की गति व चलती लाइफ में इतनी भागदौड़ है कि अगर एक बार लोकडाउन ख़तम करने का एलान कर दिया तो लोग फिर से सड़क पर निकलेंगे ही चाह काम हो या ना हो। सरकार इसके लिए कुछ दिशा निर्देश जारी करेगी जिसके तहत लोगो को पालन करना अनिवार्य है। सीधे तौर पर अभी मुंबई में रेड जॉन में बाहर निकलना सख्त पाबंदी लगाई गई है।

📣 अब  The Nations times  @thenationstimes telegram  में भी उपलब्ध है। 

Your comments