Delhi University

नई दिल्ली: दिल्ली विश्वविद्यालय ऑनलाइन परीक्षा के लिए काफी समय से इसके विषय में विचार रहे थे । सभी शिक्षकों की राय महस्वरा के बाद भी सही निश्चित तौर पर कोई कदम नहीं ले पा रहे थे । दिल्ली विशवविद्यालय के वाइस चांसलर व उनकी विशिष्ठ टीम के सदस्यों ने मिलकर छात्रों के लिए गाइडलाइन  निकाली ।

दिल्ली विशवविद्यालय की गाइडलाइन के अनुसार 

• अब केवल अंतिम वर्ष के स्नातक ओर स्नातकोत्तर छात्रों के लिए परीक्षा होगी। यह परीक्षा “ओपन बुक, घर से ऑनलाइन परीक्षा” के रूप में होगी । 
• यह प्रणाली रेगुलर और डिस्टेंस लर्निंग दोनों प्रकार के छात्रों के लिए तैयार की जाएगी। इसमें स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग ओर गैर-कॉलेजिएट महिला शिक्षा बोर्ड को शामिल किया गया हैं ।
• हालाकि शिक्षकों के द्वारा इस प्रणाली काविरोध किया जा रहा है, यहां तक कि लैपटॉप और हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्शन की परेशानी के चलते  छात्रों ने भी परीक्षा नहीं दे पाने पर  चिंता जताई है।
• नोटिफिकेशन में डिन विनय गुप्ता बताते है कि परीक्षाएं 1 जुलाई से शुरू होगी। इसकी डिटेल डेटशीत बाद में जारी की जाएंगी। 
 “सभी परीक्षाएं एक दिन में तीन सत्रों के माध्यम से आयोजित की जाएंगी, जिसमें रविवार भी शामिल है, और इसकी अवधि दो घंटे है। कोविड-19 के कारण स्थिति सामान्य नहीं है, ऐसे में छात्रों को सोशल डिस्टेंसिंग, सुरक्षा और स्वास्थ्य को बनाए रखना मुश्किल हो जाता है,  इसलिए विश्वविद्यालय परीक्षा का एक वैकल्पिक तरीका अपनाएगा

रीपरिक्षा व इंप्रूवमेंट परीक्षाय भी हो सकती है 

  • फाइनल ईयर के छात्रों के एरियर और सुधार परीक्षाएं भी इसी तरीके से होंगी। साथ ही परीक्षा के लिए उपस्थित होने के दौरान छात्र पुस्तकों और अध्ययन सामग्री का उल्लेख कर सकेंगे। 
  • विश्वविद्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि केवल यह ही एकमात्र विकल्प बचा था, इसलिए एग्जामिनेशन बोर्ड की देखरेख में  यह इस परीक्षा पर निर्णय लिया।

कॉलेज का नया सत्र अगस्त से शुरू होने की संभावना

  • वर्तमान परिस्थितियों में, यह नहीं कहा जा सकता है कि विश्वविद्यालय कब खुलेगा। यदि परिस्थितियां संभलती है तो जल्द ही विद्यालय खोलने का आदेश दिया जाएगा।
  • विश्वविदयालय के कुलपति ने अपने पिछले नोटिस में 1 अगस्त से छात्रों के नय नमांकन भरने शुरू होंगे। 

परीक्षाओं के  प्रश्न पत्र के सेट बनने शुरू

  • इससे पहले विभागाध्यक्षों को परीक्षा शाखा ने एक पत्र भेजा है, जिसमें उनसे प्रश्न पत्र तैयार करने और उन्हें 3 जून से पहले जमा करने को कहा गया है।
  • छात्रों को एक घंटे के भीतर आधिकारिक वेबसाइट से प्रश्न पत्र डाउनलोड करना होगा। उन्हें दो घंटे के भीतर चार प्रश्नों के एक सेट का उत्तर देना होगा। 

ऑनलाइन ही सबमिट करना होगा उत्तर 

  • उत्तर को सादे कागज पर लिखना होगा, जिसे बाद में स्कैन करके अपलोड करना होगा। 
  • परीक्षा तैयार करने वाले शिक्षकों को इस तरह से प्रश्नों को तैयार करने के लिए निर्देशित किया गया है जो छात्रों की समझ और विश्लेषणात्मक कौशल का परीक्षण करेंगे।

यूजी और पीजी दोनों को देनी होगा परीक्षा

  •  विभाग यूजी और पीजी दोनों कार्यक्रमों के प्रत्येक पाठ्यक्रम के लिए प्रश्नपत्रों के तीन सेटों को मॉडरेट करेगा, जिसके बाद उन्हें पोर्टल पर अपलोड किया जाएगा। 
  •  इस पर भी सवाल उठाए गए हैं कि क्या वेबसाइट इतने बड़े ट्रैफिक को हैंडल कर पाएगी। इससे पहले, जब परीक्षा पंजीकरण ऑनलाइन स्थानांतरित हो गया था ।
  • छात्रों को तकनीकी समस्याओं का सामना करना पड़ा था। जामिया जैसे अन्य विश्वविद्यालयों ने अपने अंतिम वर्ष के छात्रों के लिए जुलाई में ऑफलाइन परीक्षा आयोजित करने की घोषणा की है| 

Amazon's sale in

अब  the Nations times Instagram पर भी उपलब्ध @the.nations_times और टेलीग्राम पर ज्वाइन होने के लिए @thenationstimes पर जाय। 

Your comments